शुक्रवार, 20 फ़रवरी 2015

सुखोई के साथ रुडी ने आसमान में भरी हौसलों की उड़ान / Rudy Morale Flying in the Sky Filled With Sukhoi

-सुखोई उड़ानेवाले पहले केन्द्रीय मंत्री बने रुडी
-बेंगलूरू में एयरो इण्डिया 2015 के एयर शो में उड़ाया सुखोई

उड़ान में उनका साथ तेजपुर में तैनात विंग कमाण्डर एएन कारूलकर ने दिया।

-शीतांशु कुमार सहाय
अगर देखनी हो देश के हौसलों की ऊँचाई, तो आसमान से कहो थोड़ा और ऊँचा हो जाये.....। कुछ इसी जज्बे के साथ कौशल विकास एवं उद्यमिता-सह-संसदीय कार्य राज्यमंत्री राजीव प्रताप रुडी ने देश की शान सुखोई लड़ाकू विमान के साथ आकाश में कलाबाजियाँ दिखायीं। श्री रुडी बेंगलूरू में आयोजित एयरो इंडिया 2015 के एयर शो में 22 हजार फीट की ऊँचाई पर करीब 38 मिनट तक सुखोई विमान के साथ आसमान में अठखेलियाँ खेलते रहे। बिहार के सारण लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री रुडी भारतीय वायुसेना के अग्रिम पंक्ति के लड़ाकू विमान सुखोई-30 एमकेआई को उड़ानेवाले देश के पहले केन्द्रीय मंत्री हैं।

एयर शो का उद्घाटन 18 फरवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया। बड़ी संख्या में लोगों ने सुखोई के साथ आसमान में श्री रुडी द्वारा किये गये हैरतअंगेज करतब को अपनी आँखो से देखा। मालूम हो कि सारण के सांसद राजीव प्रताप रुडी एक लाईसेंसशुदा व्यावसायिक पायलट हैं और वे वाजपेयी सरकार में देश के नागरिक उड्डयन मंत्री भी रह चुके हैं। सुखाई विमान भारतीय वायुसेना की आन-बान और शान है। यह वायुसेना के लड़ाकू विमान में अग्रणी स्थान रखता है। उड़ान भरने के बाद श्री रुडी ने बताया कि सुखोई को उड़ाने का उनका अनुभव काफी रोमांचक रहा। बतौर पायलट व्यावसायिक उड़ानों की उन्हें आदत है लेकिन सुखोई विमान को उड़ाने की चुनौती उनके रफ्तार, ताकत और धैर्य की आजमाइश थी जिसका उन्होंने पूरा आनन्द उठाया। उड़ान में उनका साथ तेजपुर में तैनात विंग कमाण्डर एएन कारूलकर ने दिया। को-पायलट के रूप में उन्होंने गुरुत्वाकर्षण बल के विरुद्ध जाते हुए विमान की कलाबाजियाँ करने में सहयोग किया। सुखोई विमान के बारे में बताते हुए केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि यह भारतीय वायुसेना का एक बेहतरीन जहाज है। वर्ष 2002 से इसे भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया है। यह विमान 2600 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भरने में सक्षम है। साथ ही इस विमान में अलग-अलग तरह के बम के साथ प्रक्षेपास्त्र ले जाने के बारह स्थान हैं। श्री रुडी ने भारतीय वायुसेना के प्रशिक्षित पायलटों की तारीफ करते हुए कहा कि उनके रहते हमारा देश सुरक्षित हाथों में है। यह जानकारी श्री रुडी के प्रवक्ता धनंजय तिवारी ने दी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आलेख या सूचना आप को कैसी लगी, अपनी प्रतिक्रिया दें