शनिवार, 9 मई 2015

प्रधानमंत्री ने कोलकाता में सामाजिक सुरक्षा से जुड़ी तीन योजनाएं लांच कीं


-शीतांशु कुमार सहाय
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सामाजिक सुरक्षा से जुड़ी तीन योजनाएं 'प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना', 'प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना' और 'अटल पेंशन योजना' का कोलकाता में लांच की। जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत दो लाख का जीवन-बीमा मिलेगा, जबकि सुरक्षा बीमा योजना के तहत दो लाख तक का दुर्घटना बीमा मिलेगा। दोनों योजनाओं का लाभ कोई भी बैंक खाताधारक उठा सकता है। वहीं, अटल पेंशन योजना उन बैंक खाताधारकों के लिए है, जिनकी आमदनी कर योग्य नहीं है और जो किसी अन्य संवैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना से नहीं जुड़े हैं। इस योजना के तहत एक हजार रुपये, दो हजार, तीन हजार, चार हजार और पाँच हजार रुपये मासिक पेंशन का विकल्प होगा, जिसके लिए प्रीमियम राशि अलग-अलग होगी। अधिकतम 40 साल की उम्र तक इसका सदस्य बना जा सकता है और 60 साल की उम्र से पेंशन मिलना शुरू होगा। मोदी ने कोलकाता में मुख्य समारोह में तीनों योजनाओं का उद्घाटन किया, जबकि राज्यों की राजधानियों समेत देश के 166 प्रमुख शहरों में एक साथ आयोजित कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, केंद्रीय मंत्री सांसद तथा अन्य वरिष्ठ नेतागण शामिल हुए।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना की मुख्य बातें ...
0 बीमा राशि दो लाख जो किसी भी कारण से मृत्यु होने की स्थिति में देय होगी।
0 बीमा अवधि एक साल (01 जून से 31 मई), हर साल 31 मई तक कराना होगा नवीकरण
0 18 से 50 साल की आयु वर्ग के हर बैंक खाताधारक होंगे पात्र। आधार होगा मुख्य केवाईसी।
0 330 रुपये होगी सालाना प्रीमियम राशि।
0 सदस्यता के लिए 31 मई तक करना होगा बैंक में आवेदन, ऑटो डेबिट से कटेगी प्रीमियम की राशि।
0 देर से सदस्यता लेने वालों को भी देनी होगी पूरी प्रीमियम राशि।
0 जिस बैंक में खाता होगा वहीं होगा मास्टर पॉलीसी होल्डर।
0 सदस्यता की अधिकतम उम्र सीमा 5० साल। एक बार सदस्य बनने के बाद 55 साल की उम्र तक ले सकते हैं लाभ।
0 55 साल की उम्र या बैंक खाता बंद होने या इसमें अपर्याप्त राशि होने पर समाप्त हो जायेगी सदस्यता।
0 एक से अधिक बैंक खातों के जरिये एक से अधिक सदस्यता लेने पर एक ही सदस्यता होगी वैध, अन्य का प्रीमियम होगा जब्त।
0 330 रुपये के प्रीमियम में 289 रुपये बीमा कंपनी (एलआईसी या अन्य) को मिलेगा, 3० रुपये एजेंट के खर्च पर जायेंगे और 11 रुपये बैंक को प्रशासनिक खर्च के रूप में मिलेंगे।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना की मुख्य बातें ...
0 दुर्घटना के कारण मृत्यु पर बीमा राशि दो लाख।
0 दुर्घटना में दोनों आँखों की दृष्टि पूरी तरह चली जाने और उनके ठीक होने की कोई संभावना नहीं होने, दोनों हाथों या दोनों पैरों के  इस्तेमाल लायक न.न रहने या एक आँख की रोशनी जाने और एक हाथ या पैर के इस्तेमाल लायक नहीं रहने पर बीमा राशि दो लाख।
0 एक आँख की रोशनी पूरी तरह चले जाने और उसके वापस आने की कोई संभावना नहीं होने या एक हाथ या पैर का इस्तेमाल लायक नहीं रहने पर एक लाख की बीमा राशि।
0 बीमा अवधि एक साल (01 जून से 31 मई), हर साल कराना होगा रिन्यू। एक साथ कई सालों या अनिश्चित अवधि के रिन्यू के लिए भी बैंक को दे सकते हैं निर्देश।
0 18 से 70 साल की आयु वर्ग के हर बैंक खाताधारक होंगे पात्र। आधार होगा मुख्य केवाईसी।
0 12 रुपये होगी सालाना प्रीमियम राशि।
0  योजना के शुरुआती अनुभव के आधार पर प्रीमियम राशि में हो सकती है बढ़ोतरी। पहले तीन साल तक बढ़ाेतरी नहीं करने की होगी पूरी कोशिश।
0  सदस्यता के लिए 31 मई तक करना होगा बैंक में आवेदन, ऑटो डेबिट से कटेगी प्रीमियम की राशि।
0  देर से सदस्यता लेने वालों को भी देनी होगी पूरी प्रीमियम राशि।
0  जिस बैंक में खाता होगा वहीं होगा मास्टर पॉलीसी होल्डर।
0  70 साल की उम्र या बैंक खाता बंद होने या इसमें अपर्याप्त राशि होने पर समाप्त हो जायेगी सदस्यता।
0  एक से अधिक बैंक खातों के जरिये एक से अधिक सदस्यता लेने पर एक ही सदस्यता होगी वैध, अन्य का प्रीमियम होगा जब्त।
0 12 रुपये के प्रीमियम में 10 रुपये बीमा कंपनी (एलआईसी या अन्य) को मिलेगा, एक रुपया एजेंट के खर्च पर जायेगा और एक रुपया बैंक को प्रशासनिक खर्च के रूप में मिलेगा।

अटल पेंशन योजना की मुख्य बातें ...
0  असंगठित क्षेत्र में काम करने वालों पर फोकस।
0  एक हजार, दो हजार, तीन हजार, चार हजार तथा पाँच हजार रुपये मासिक पेंशन का विकल्प।
0 18 से 40 साल की उम्र के ऐसे बैंक खाताधारक जिनकी आय करयोग्य नहीं है और जो किसी अन्य संवैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना का लाभ नहीं उठा रहे हैं, इसके पात्र होंगे।
0  60 साल की उम्र से मिलना शुरू होगा पेंशन।
0  सरकार तय करेगी न्यूनतम पेंशन राशि।
0  31 दिसंबर 2015 से पहले योजना में शामिल होने वालों के लिए सरकार हर साल अधिकतम 1000 रुपये का योगदान अपनी ओर से देगी।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आलेख या सूचना आप को कैसी लगी, अपनी प्रतिक्रिया दें